मंदसौर की गुड़िया को एमवाय से छुट्टी

इंदौर। गैंग रेप का शिकार हुई मंदसौर की गुफ़िया को पर्याप्त इलाज़ के बाद पूरी औपचारिक जांच करके इंदौर के myh से डिस्चार्ज कर दिया गया।

अस्पताल सूत्रों के अनुसार कुछ इलाज़ घर पर चलता रहेगा, समय समय पर चेकअप के लिए बुलाएंगे। इस केस की महत्वपूर्ण बात यह है कि पीड़ित बच्ची के इलाज के दौरान ही केस की ट्रायल कंप्लीट हुई और आरोपियों को फांसी की सजा सुनाई गई।

गौरतलब है कि मंदसौर के हाफिज कॉलोनी से एक 7-8 साल की नाबालिग बच्ची को स्कूल से अगवा कर लिया गया था और 26 जून 2018 को गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया।

इस घटना के कारण बच्ची की हालत इतनी बिगड़ गई थी कि उसे इलाज हेतु मंदसौर से इंदौर लाकर एमवाय में भर्ती करना पड़ा था। उसे देखने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी एमवाय पहुंचे थे ओर बच्ची का इलाज उनकी निगरानी में करने के निर्देश डॉक्टरों को दिये थे।

इस घटना के विरोध में क्षेत्रीय लोगों में काफी आक्रोश था और मंदसौर व इंदौर सहित कई जगह घटना के विरोध में प्रदर्शन और बंद भी किये गए थे।

मामले में दो आरोपी इरफान व आसिफ को गिरफ्तार किया गया था। कोर्ट ने इन आरोपियों को 55 दिन में सुनवाई कर फांसी की सजा सुनाई थी।

Spread the love

इंदौर