Feb 19 2019 /
6:39 AM

वसंत पंचमी पर मां सरस्वती को जरूर अर्पित करें ये 5 चीजें

बसंत पंचमी (Basant Panchami) 10 फरवरी को है. हर साल माघ महीने के शुक्ल पक्ष में आने वाली पंचमी तिथि को बसंत पंचमी (Basant Panchami 2019) का त्योहार मनाया जाता है. इसलिए ही इसे माघ पंचमी (Magh Panchami) भी कहा जाता है. इसके अलावा बसंत पंचमी को वसंत पंचमी (Vasant Panchami), सरस्वती पंचमी (Saraswati Panchami) और श्री पंचमी (Shri Panchami) के नाम से भी जाना जाता है. इस साल यह नौ फरवरी को भी मनाई जा रही है.

असल में बसंत ऋतु (Vasant) में पेड़ पौधों में नई कोंपलें निकलती हैं. इस मौसम में कई तरह के फूल खिलते हैं और इसी मौसम में खेतों में पीली सरसों की चादर छा जाती है. इस साल पड़ने वाली बसंत पंचमी खास है, क्योंकि इस बार बसंत पंचमी के दिन प्रयागराज में कुंभ में इस मेले का चौथा शाही स्नान होगा.

इस दिन माता सरस्वती की विशेष रूप से पूजा की जाती है।
छात्रों और कलाकारों के लिए सरस्वती पूजा का विशेष महत्व होता है। इस दिन ज्ञान और बुद्धि की देवी माता सरस्वती की पूजा से बहुत लाभ मिलता है। अगर छात्र ज्ञान और बुद्धि पाना चाहते हैं तो इस दिन देवी की पूजा करते समय उनकी 5 प्रिय वस्तुएं जरूर भेंट करें:

देवी सरस्वती को पीले और सफेद रंग के फूल पसंद है। इन फूलों से देवी की पूजा करने से वे जल्द प्रसन्न होती है। इसके साथ ही आप गेंदे और सरसों के फूल भी मां को अर्पित कर सकते हैं।

वसंत पंचमी के दिन पीले रंग का विशेष महत्व है इसलिए सफेद की बजाय पीले रंग के वस्त्र अर्पित करें तो यह बहुत शुभ होता है। इस दिन अपने शरीर पर पीले रंग का वस्त्र धारण करें।

मां सरस्वती को बूंदी का प्रसाद बहुत प्रिय होता है। देवी सरस्वती को बूंदी अर्पित करने से गुरु अनुकूल होते हैं और ज्ञान प्राप्ति में आने वाली बाधा दूर होती है।

सरस्वती पूजा में पेन और कॉपी जरूर शामिल करें, इससे बुध की स्थिति अनुकूल होती है जिससे बुद्धि बढ़ती है और स्मरण शक्ति भी अच्छी होती है।

केसर और पीला चंदन का तिलक करें और खुद भी लगाएं। ज्योतिषशास्त्र में इसे गुरु से संबंधित वस्तु कहा गया है जिससे ज्ञान और धन दोनों के मामले में अनुकूलता की प्राप्ति होती है।

Spread the love

इंदौर