भगवान जगन्नाथ की यात्रा में उमड़ा जनसैलाब

पूरी। ओडिशा के पुरी में शनिवार से नौ दिनों तक चलने वाली 141वी जगन्नाथ रथ यात्रा शुरू हो गई है। हर साल की तरह लाखों की संख्या में श्रद्धालु इस यात्रा में शामिल होने के लिए पुरी पहुंच गए हैं. दोपहर 12 बजे से शुरू हुई इस रथ यात्रा में बीजेपी के केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी पहुंचे. प्रधान ने ट्विटर पर देशभर के लोग, विशेषकर ओड़िया समाज को जगन्नाथ यात्रा की शुभकामनाएं दीं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट किया।

मोदी ने कहा, ‘भगवान जगन्नाथ यात्रा के इस अवसर पर मैं सभी देशवासियों को शुभकामनाएं देता हूं और साथ-साथ भगवान जगन्नाथ का आशीर्वाद गरीब जनता पर बरसे, किसानों पर बरसे, वर्षा अच्छी हो इसकी प्रार्थना करता हूं’. रथयात्रा के दौरान भगवान जगन्नाथ, भगवान बालभद्र और देवी सुभद्रा रथ में बैठकर जगन्नाथ मंदिर से गुंडिचा मंदिर जाएंगे। गुंडिचा मंदिर को भगवान जगन्नाथ की मौसी का घर माना जाता है. परम्परा अनुसार रथ यात्रा के दौरान साल में एक बार भगवान जगन्नाथ अपने भाई-बहनों के साथ जगन्नाथ मंदिर से इसी गुंडिचा मंदिर में रहने के लिए आते हैं. अपनी मौसी के घर में भगवान एक हफ्ते तक ठहरते हैं, जहां उनका खूब आदर-सत्‍कार होता है. इस दौरान उन्‍हें कई प्रकार के स्‍वादिष्‍ट पकवानों और फल-फूलों का भोग लगाया जाता है।

इस रथयात्रा की सजावट खास किस्म के फूलों से की गई है. यह फूल स्पेशल कोलकाता दे मंगवाए गए है। इधर अहमदाबाद में भी भगवान जगन्नाथ की 141वीं रथयात्रा शुरू हो गई है. भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा को लेकर मंदिर और पुलिस ने सभी तरह के कड़े इंतजाम किए हैं. सुरक्षाबल के जवानों को भारी संख्या में तैनात किया गया है। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी और उपमुख्‍यमंत्री नितिन पटेल ने रथ को खींच कर इस रथयात्रा की शुरुआत की

Spread the love

इंदौर