Mar 20 2019 /
5:03 AM

20 मार्च को जलेगी होली, 21 को उड़ेगा रंग गुलाल

इसी माह रंग, मस्ती व उल्लास का पर्व होली आ रहा है। होली के त्योहार से ठीक एक रात पहले होलिका दहन मनाया जाता है। इस साल 20 मार्च को होलिका दहन है और 21 मार्च को होली मनाई जाएगी।

होली का त्योहार फाल्गुन माह में होलिका दहन से शुरू होता है. होलिका दहन के समय को लेकर कई बार लोगों के मन में काफी भ्रम होती है. क्योंकि शुभ मुहूर्त में ही होलिका दहन करने पर इसका फल मिलता है।

वैसे तो हर त्यौहार का अपना एक रंग होता है जिसे आनंद या उल्लास कहते हैं लेकिन हरे, पीले, लाल, गुलाबी आदि असल रंगों का भी एक त्यौहार पूरी दुनिया में हिंदू धर्म के मानने वाले मनाते हैं। इसमें एक और रंगों के माध्यम से संस्कृति के रंग में रंगकर सारी भिन्नताएं मिट जाती हैं और सब बस एक रंग के हो जाते हैं वहीं दूसरी और धार्मिक रूप से भी होली बहुत महत्वपूर्ण हैं।

मान्यता है कि इस दिन स्वयं को ही भगवान मान बैठे हरिण्यकशिपु ने भगवान की भक्ति में लीन अपने ही पुत्र प्रह्लाद को अपनी बहन होलिका के जरिये जिंदा जला देना चाहा था लेकिन भगवान ने भक्त पर अपनी कृपा की और प्रह्लाद के लिये बनाई चिता में स्वयं होलिका जल मरी। इसलिये इस दिन होलिका दहन की परंपरा भी है। होलिका दहन से अगले दिन रंगों से खेला जाता है इसलिये इसे रंगवाली होली और धुलेंडी भी कहा जाता है।

होली के शुभ मुहूर्त

20 मार्च, होली दहन

होलिका दहन मुहूर्त- 20:57 से 00:28

भद्रा पूंछ- 17:23 से 18:24

भद्रा मुख- 18:24 से 20:07

धुलेंडी- 21 मार्च

पूर्णिमा तिथि आरंभ- 10:44 (20 मार्च)

पूर्णिमा तिथि समाप्त- 07:12 (21 मार्च)

Spread the love

इंदौर