22 अगस्त, गणेश चतुर्थी पर किस शुभ मुहूर्त में करें गणेशजी की स्थापना

प्रथम पूज्य भगवान गणेश जी की दस दिवसीय स्थापना 22 अगस्त शनिवार को होगी। आइए जानते है किस शुभ मुहूर्त में उनकी स्थापना की जाए।

🐘गणपतिर्विघ्नराजो लम्बतुण्डो गजाननः।
द्वैमातुरश्च हेरम्ब एकदन्तो गणाधिपः॥
विनायकश्चारुकर्णः पशुपालो भवात्मजः।
द्वादशैतानि नामानि प्रातरुत्थाय यः पठेत्‌॥
विश्वं तस्य भवेद्वश्यं न च विघ्नं भवेत्‌ क्वचित्‌।🐘

🌴श्रीगणेश अवतरण दिवस पर्व🌴

दिनांक 22 अगस्त 2020 शनिवार

🐚श्रीगणेश जन्म उत्सव की मंगलमय बधाई🐚

श्रीगणेशजी की स्थापना के शुभ मुहूर्त-

~प्रातः 07.42 मि. से 09.17 मि. तक (शुभ)
~दोप. 12.27 मि. से 02.02 मि. तक (चर)
~दोप. 02.03 मि. से 03.36 मि. तक (लाभ)
~दोप. 03.37 मि. से 05.11 मि. तक (अमृत)
~सांयः 06.46 मि. से रात्रि 08.11 मि. तक (लाभ)
~रात्रि 09.37 मि. से 11.02 मि. तक (शुभ)

अतिविशिष्ट मुहूर्त-
दोप. 12.27 मि. से 12.51 मि. तक
(अभिजित संग मध्याह्नकाल एवं चर चौघड़िया)

विशेष – रवियोग के साथ में साध्य एवं शुभ योग के संयोग में प्रातः 09.30 मि. से सांयः 07.57 मि. तक भद्रा होने के बावजुद शुभ मुहूर्त मे श्रीगणेश स्थापना कर सकते है।

ज्योतिर्विद –
पं. श्रीगुलशन अग्रवाल
जय महाकाली मंदिर, खजराना
इन्दौर (म.प्र.)

Spread the love

9

इंदौर