Jun 20 2019 /
7:24 PM

6 जनवरी रविवार को सूर्य ग्रहण, लेकिन भारत में नही दिखेगा

मौजूदा वर्ष 2019 का पहला ग्रहण 6 जनवरी रविवार को लगने जा रहा है। ग्रहण का आरंभ 6 जनवरी की सुबह 5 बजकर 4 मिनट पर होगा और मघ्य सुबह 7 बजकर 11 मिनट पर होगा और ग्रहण समाप्त 9 बजकर 18 मिनट पर होगा। अमावस्या 5 जनवरी शनिवार को सुबह 4:58 बजे से 6 जनवरी रविवार को सुबह 6:58 बजे तक रहेगी।

शनि अमावस्या होने के कारण इस दिन शनि भगवान के मंत्र का जाप भी करना चाहिए। ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक धनु, तुला, मीन और कुंभ राशि के लोग अधिक भाग्यशाली रहेंगे। जिन्हें समाज में नई पहचान मिलेगी।

साथ ही प्रेम संबंधों और घर से सहयोग मिलेगा। आय में वृद्धि होने से आर्थिक स्थिति में सुधार आएंगे। इस दिन सूर्य को जल जरूर दें।

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार यह सूर्यग्रहण धनु राशि में और पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में लगने जा रहा है इसलिए इस ग्रहण से सबसे अधिक प्रभावित धनु और पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में पैदा हुए लोग होंगे।

इन राशि और नक्षत्र वालों को जनवरी के महीने में शारीरिक और मानसिक परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इन लोगों को आर्थिक मामलों में खास तौर पर लेन-देन के मामले में सावधानी बरतने की जरूरत है।

मिथुन राशि वालो को दूसरों के मामलों में हस्तक्षेप से बचना चाहिए नहीं तो अपमान का सामना करना पड़ सकता है। इस राशि के लोगों को अपने काम पर पूरा ध्यान देना होगा। यात्रा का योग भी बनेगा।

जीवनसाथी को कष्ट हो सकता है। साझेदारी के काम में समझदारी बरतें। कर्क राशि के लोगों को जोखिम वाले काम से बचना होगा। अग्नि और जलक्षेत्र से सावधानी बरतें। माता और बच्चों की सेहत को लेकर चिंता हो सकती है। मानसिक उलझनों का सामना करना होगा।

शेष अन्य राशियों पर ग्रहण का प्रभाव मिलाजुला रहेगा। इस ग्रहण में पूजा-पाठ और धार्मिक कार्य करना बहुत ही उत्तम रहेगा क्योंकि इस दिन शनि अमावस्या है और यह ग्रहण भारत में दृश्य नहीं होने के कारण सूतक के प्रभाव से मुक्त रहेगा।

यहां दिखेगा सूर्यग्रहण

खगोल विज्ञान के अनुसार 2019 का पहला मध्य-पूर्व चीन, जापान, उत्तरी तथा दक्षिणी कोरिया, उत्तर-पूर्वी रूस, मध्य-पूर्वी मंगोलिया, प्रशांत महासागर, अलास्का के पश्चिमी तटों में दिखाई देगा। यह खंडग्रास सूर्यग्रहण भारत के किसी भी हिस्से में नहीं देखा जा सकेगा।

Spread the love

इंदौर