Jun 20 2019 /
6:36 PM

वैष्णो देवी में जोरदार बर्फबारी, भक्तों में बड़ा उत्साह

जम्मू। जम्मू कश्मीर की वादियों में विराजी माता वैष्णो देवी के त्रिकुटा पर्वतों के बाद भवन में भी मौसम की पहली जोरदार बर्फबारी हुई। इसे यहां पहुंचने वाले श्रद्धालु की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। त्रिकुटा की पहाडियों पर बर्फ की सफेद चादर बिछने के बाद वैष्णो देवी भवन का प्रांगण और यात्रा मार्ग सफेद हो उठा है।

भगतों माता के दर्शनों के साथ-साथ बर्फबारी का भी पूरा आनंद उठा रहे हैं। हालांकि बारिश के कारण कटरा में भी ठंड बढ गई है। भवन मार्ग पर सर्द हवाएं चल रही है।

बारिश और बर्फबारी के बीच यात्रा फिलहाल सामान्य तरीके से चल रही है। खराब मौसम के कारण हेलीकॉप्टर ने सुबह से एक भी उड़ान नहीं भरी है। हांलाकि पैदल यात्रा बिना बाधा के जारी है।

“अद्धकुंवारी” से भवन तक चलने वाली बैटरी कार सेवा भी फिलहाल स्थगित है। मौसम विभाग के अनुसार अभी एक-दो दिन तक मौसम इसी तरह रहने की संभावना है।

माता वैष्णो देवी मार्ग पर पहले तो हल्की बर्फबारी हो रही थी परंतु जैसे ही इसमें इजाफा हुआ मां वैष्णो देवी के दर्शनों के लिए भवन की ओर बढ रहे श्रद्धालुओं या फिर दर्शन कर वापिस कटड़ा की ओर जा रहे भक्तों में खुशी की लहर दौड़ गई।

मस्ती और सेल्फी का दौर भी शुरू हो गया। ढेरों लोग सेल्फी लेते और वैष्णों देवी का मनोरम दृश्य अपने मोबाइल कैमरों में कैद करते नजर आए।

बारिश और बर्फबारी के बाद कटड़ा व श्री माता वैष्णो देवी यात्रा मार्ग पर शीतलहर के चलते तापमान में गिरावट आई है। वहीं जमीनी इलाकों में यह काम हल्की बारिश ने कर दिया।

त्रिकुटा की पहाड़ियां, मां वैष्णो देवी का भवन जब बर्फ की सफेद चादर से लिपट गई हैं तो दुकानों में जलती लाइटें किसी अलाव की तरह नजर आ रही हैं। यहां आए पर्यटकों की तो जैसे मन की मुराद पूरी हो गई है।

बर्फवारी के बाद भक्तों यात्रा मार्ग पर लुत्फ उठाते नजर आ रहे हैं। हर कोई बर्फ की चादर पर अपने निशान छोड़ता जा रहा हैं।

श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के अनुसार त्रिकुटा पहाड़ियों पर गत मंगलवार से बर्फबारी हो रही है परंतु भवन में बर्फबारी बुधवार सुबह ही शुरू हुई है।

यह सीजन की पहली बर्फबारी है। बर्फबारी के बावजूद 14000 से अधिक भक्त माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए पवित्र गुफा जाने की राह में हैं।

इतनी ठंड के बाद भी भक्तों में गजब का उत्साह है। वे मां के जयकारे लगाते हुए हुए आधार शिविर कटरा से भवन की ओर बढ़ रहे हैं।

वहीं पटनीटॉप, नत्थाटाप में भी पांच इंच तक बर्फ जमा हो गई है। इससे पर्यटकों के चेहरे खिले नजर आए। वहीं दुकानदारों के चेहरों पर भी मुस्कान छा गई है। वे उम्मीद लगा रहे हैं कि बर्फ गिरने से पत्नीटॉप में पर्यटकों की आवाजाही होगी।

Spread the love

इंदौर