Aug 10 2022 / 1:24 AM

‘रेप इन इंडिया’ पर फंस गए राहुल गांधी, महिला सांसदों ने की माफी की मांग

नई दिल्ली। लोकसभा के शीत सत्र के आखिरी दिन राहुल गांधी के ‘रेप इन इंडिया’ पर जमकर हंगामा हुआ। बीजेपी की महिला सांसदों समेत कई नेताओं ने राहुल गांधी का जमकर विरोध किया और माफी की मांग की। दरअसल झारखंड की रैली में राहुल गांधी ने कहा था कि हिंदुस्तान बलात्कार की राजधानी बन गया है। शुक्रवार को इसी पर हंगामा हुआ, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी समेत कई महिला सांसदों ने राहुल गांधी से माफी की मांग की।

स्मृति ईरानी ने कहा कि राहुल ने देश की महिलाओं का अपमान किया। स्पीकर ओम बिरला की मौजूदगी में स्मृति ने कहा, इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि कोई नेता यह कह रहा है कि भारतीय महिलाओं के साथ बलात्कार किया जाना चाहिए। क्या यह राहुल गांधी का देश के लोगों के लिए संदेश है? इस दौरान भाजपा की तमाम महिला सांसद लोकसभा में अपनी जगह पर खड़ी हो गईं और राहुल गांधी माफी मांगो के नारे लगाने लगीं।

राजनाथ सिंह ने कहा कि राहुल गांधी को सांसद रहने का हक नहीं है। राजनाथ सिंह ने आक्रामक तेवर दिखाते हुए कहा कि ऐसी भाषा का इस्तेमाल करने वाले सदस्य को सांसद बने रहने का अधिकार नहीं है। डिफेंस मिनिस्टर ने कहा, सारा देश यह जानता है कि पीएम नरेंद्र मोदी मेक इन इंडिया कार्यक्रम पर बल दे रहे हैं ताकि भारत अब इंपोर्टर देश से एक्सपोर्टर के तौर पर तब्दील हो सके। इसलिए भी यह योजना आगे बढ़ाई जा रही है ताकि देश के नौजवानों को रोजगार हासिल हो सके। लेकिन कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने इन शब्दों के साथ जो तुकबंदी की है, वह आहत करने वाली है

उन्होंने कहा कि क्या इस सदन में ऐसे लोग भी चुन कर आ सकते हैं, जो ऐसे भी शब्दों का प्रयोग करते हैं। मैं यह कहना चाहता हूं कि हमारी पार्टी के भी कुछ लोगों ने अपशब्दों का प्रयोग किया था तो हमने उन्हें उनको बुलाकर उन्हें खेद व्यक्त कराया है। कांग्रेस के इतने सीनियर लीडर की ओर से ऐसा किया जा रहा है तो क्यों नहीं उन्हें सदन में आना चाहिए और सारे देश से माफी मांगनी चाहिए।

बीजेपी की सांसद लॉकेट चटर्जी ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी मेक इन इंडिया की बात करते हैं और राहुल गांधी ने रेप इन इंडिया की बात कही। उनका कहना है कि आओ और हमारे यहां की महिलाओं का रेप करो। यह भारत की महिलाओं और भारत माता का अपमान है।

Share with

INDORE