Sep 29 2022 / 4:32 AM

मंत्री डॉ. डहरिया की पहल पर तीन सिंचाई संरचनाओं के जीर्णोद्धार के लिए पौने सात करोड़ रूपए की स्वीकृति

कोसरंगी जलाशय, पलौद स्टापडेम, सिवनी टार बांध का होगा जीर्णोद्धार एवं नहर लाईनिंग

सिंचाई क्षमता में होगी वृद्धि, किसानों को मिलेगा लाभ

रायपुर। श्रम एवं नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया की विशेष पहल पर आरंग क्षेत्र की तीन सिंचाई संरचनाओं के जीर्णोद्धार एवं नहरों के लाईनिंग के लिए 6 करोड़ 78 हजार 35 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति छत्तीसगढ़ शासन द्वारा दी गई है। इन तीनों सिंचाई संरचनाओं के जीर्णोद्धार एवं नहरों की मरम्मत एवं लाईनिंग की मांग अंचल के किसानों द्वारा काफी समय से की जा रही थी। इन तीनों सिंचाई संरचनाओं के जीर्णोद्धार से इनकी सिंचाई क्षमता सुधरेगी, जिसका फायदा किसानों को मिलेगा।

मंत्री डॉ. डहरिया ने बताया कि आरंग क्षेत्र स्थित कोसरंगी जलाशय के जीर्णोद्धार एवं नहर लाईनिंग के लिए 3 करोड़ 99 लाख 69 हजार रूपए, सिवनी टार बांध के लिए जीर्णोद्धार एवं नहर लाईनिंग के लिए एक करोड़ 46 लाख 22 हजार रूपए तथा पलौद स्टापडेम शीर्ष की मरम्मत एवं नहर लाईनिंग के लिए एक करोड़ 32 लाख 44 हजार रूपए की स्वीकृति मिली है। उन्होंने बताया कि कोसरंगी जलाशय के जीर्णोद्धार एवं नहर लाईनिंग से इसकी रूपांकित सिंचाई क्षमता 1610 हेक्टेयर में 178 हेक्टेयर की कमी को पूरा करने के साथ ही 44 हेक्टेयर अतिरिक्त क्षेत्र में सिंचाई होने के साथ ही कुल 1654 हेक्टेयर में सिंचाई के लिए जलापूर्ति हो सकेगी। इसी तरह पलौद स्टापडेम का जीर्णोद्धार एवं नहर लाईनिंग करने से 80 हेक्टेयर रकबे में तथा सिवनी टार बांध के जीर्णोद्धार एवं लाईनिंग से इसकी सिंचाई क्षमता 108 हेक्टेयर की कमी को दूर करने के साथ ही कुल 210 हेक्टेयर रकबे में सिंचाई के लिए जलापूर्ति हो सकेगी।

Share with

INDORE