दिनदहाड़े गैंगवार में चार की मौत, पांच घायल

नई दिल्ली। दिल्ली के बुराड़ी इलाके में सोमवार सुबह कुख्यात गैंगस्टर जितेंद्र उर्फ गोगी और सुनील उर्फ टिल्लू गिरोह के बीच गैंगवार हो गया। दोनों गिरोह की ओर से एक-दूसरे पर 25 राउंड गोलियां चलाई गईं। इसमें दोनों गिरोह के एक-एक बदमाश और वहां मौजूद एक महिला की मौत हो गई, जबकि टिल्लू गिरोह के तीन बदमाशों समेत दो राहगीर घायल हो गए।

भागने के दौरान बदमाशों ने अपनी स्कार्पियो सड़क किनारे एक व्यक्ति पर चढ़ा दी, जिससे उसकी भी मौत हो गई। 20 दिनों के अंदर इन दोनों गिरोह के बीच दूसरी बार गैंगवार की वारदात ने दिल्ली की कानून-व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं।

पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक ने मामले को गंभीरता से लेते हुए स्पेशल सेल व क्राइम ब्रांच को इन गिरोहों पर तुरंत नकेल कसने का निर्देश दिया है। वारदात में चार लाख रुपये का इनामी बदमाश जितेंद्र उर्फ गोगी खुद शामिल था। सुनील उर्फ टिल्लू दो साल से तिहाड़ जेल में बंद है। वह जेल से ही गिरोह को संचालित करता है।

पुलिस के मुताबिक सोमवार सुबह 7.30 बजे टिल्लू गिरोह के सदस्य मुकुल, जितेंद्र, सुरेंद्र व हिमांशु बुलेटप्रूफ स्कार्पियो में सवार होकर संत नगर की मेन मार्केट में स्थित द जिम में व्यायाम के लिए आए थे। इसी दौरान जितेंद्र उर्फ गोगी भी चार बदमाशों के साथ फॉर्च्यूनर से मुकुल की हत्या करने के इरादे से वहां आ धमका। जिम के गेट के सामने गाड़ी खड़ी कर सभी टिल्लू गिरोह के बदमाशों के निकलने का इंतजार करने लगे।

सुबह 9.45 बजे जैसे ही मुकुल, जितेंद्र, सुरेंद्र व हिमांशु जिम से बाहर आए, गोगी व उसके साथी बदमाशों ने उन पर गोलियां बरसानी शुरू कर दीं। इसके बाद दोनों गिरोह के बदमाश एक-दूसरे को दौड़ाकर गोली मारने लगे। पुलिस के मुताबिक, दोनों गिरोहों में करीब 10 मिनट तक 25 राउंड गोलियां चलीं।

वारदात के दौरान टिल्लू गिरोह के जितेंद्र, सुरेंद्र व हिमांशु घायल होने के बावजूद स्कार्पियो में बैठकर भाग गए, जबकि उनके साथी मुकुल ने वहीं दम तोड़ दिया। भागने के दौरान चालक ने कुछ दूरी पर राज कुमार नाम के व्यक्ति पर स्कार्पियो चढ़ा दी।

19 वर्षीय राज कुमार वेल्डिंग का काम करते थे। वारदात के समय वह दुकान के बाहर सड़क किनारे काम कर रहे थे। उधर, गोगी की फॉर्च्यूनर चला रहे मंजीत को भी गोली लगी और मौके पर ही उसकी मौत हो गई। उसके तीनों साथी शव लेकर वहां से भाग गए और सात किलोमीटर दूर शालीमार बाग स्थित मैक्स अस्पताल के बाहर फॉर्च्यूनर में शव छोड़कर दूसरे वाहन से फरार हो गए।

किसी की नजर पड़ने पर उसने मंजीत का शव मैक्स अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया। बुराड़ी पुलिस ने वारदात में इस्तेमाल दोनों कार जब्त कर ली हैं। पूरी वारदात मार्केट में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है।

इनकी गई जान-

उत्तरी जिले के डीसीपी जतिन नरवाल के मुताबिक, गैंगवार में मरने वाले बदमाशों के नाम मुकुल उर्फ सन्नी उर्फ भांजा (17), मंजीत (35) व राहगीर महिला का नाम संगीता शर्मा (37) है। पुलिस के अनुसार, संगीता बुराड़ी में परिवार के साथ रहती थीं और फैक्ट्री में काम करती थीं। वारदात के दौरान वह मेन मार्केट में बस के इंतजार में खड़ी थीं।

ये हुए हैं घायल-

गैंगवार में टिल्लू गिरोह के तीन अन्य बदमाश जितेंद्र उर्फ काला, सुरेंद्र उर्फ बिट्टा व हिमांशु उर्फ हेमंत उर्फ मोंटी के अलावा दो राहगीर वशिष्ठ राय व संतोष घायल हो गए हैं। वशिष्ठ व संतोष बुराड़ी में रहते हैं और कंपनियों में काम करते हैं। जितेंद्र काला व सुरेंद्र को शालीमार बाग स्थित मैक्स अस्पताल व वशिष्ठ एवं संतोष को लोक नायक जयप्रकाश अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

Spread the love

इंदौर