रेप में मुनि शांतिसागर की जमानत अर्जी खारिज

सूरत। गुजरात के वडोदरा की एक 19 साल की छात्रा के दुष्कर्म मामले में जैन मुनि शांतिसागर की जमानत अर्जी सेशन कोर्ट ने दूसरी बार खारिज कर दी। कोर्ट ने माना कि यह गंभीर प्रकार का आरोप है। जांच में अधिक साक्ष्य मिले हैं। गौरतलब है कि इससे पहले भी काेर्ट में शांतिसागर जमानत याचिका नामंजूर कर दी थी।

ये है आरोप। उक्त मुनि पर आरोप है कि उन्होंने टीमलियावाड के जैन उपाश्रय के बगल के कमरे में एक अक्टूबर, 2017 की रात पीड़ित छात्रा को माता-पिता के साथ विधि के लिए बुलाया था। उसके बाद छात्रा से दुष्कर्म किया था। पीड़िता ने 13 अक्टूबर को अठवा पुलिस स्टेशन में शांतिसागर पर दुष्कर्म करने की शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने शांतिसागर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

Spread the love

इंदौर