Apr 22 2019 /
9:36 AM

जहरीली शराब पर बोले CM योगी, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड मिलाकर मरने वालों की संख्या 100 के पार

नई दिल्ली|उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या बढ़ गई है. उत्तराखंड के रुड़की में मरने वालों की संख्या 31 तक पहुंच गई है. इसके अलावा सहारनपुर में 64 और कुशीनगर में करीब 8 लोगों की मौत की खबर है. यानि तीनों जगह मौत का आंकड़ा 100 के पार हो चुका है. मौत का आंकड़ा अभी और बढ़ सकता है, क्योंकि रुड़की में अभी भी कई लोगों की तबीयत बहुत गंभीर बनी हुई है. इस मामले उत्तर प्रदेश पुलिस ने 175 और उत्तराखंड पुलिस ने 3 लोगों को गिरफ्तार किया है.

इन मौतों के बाद योगी सरकार ने अवैध शराब के खिलाफ पूरे प्रदेश में अभियान शुरू हो गया है. सिद्धार्थनगर, मऊ, सहारनपुर, ललितपुर, कौशांबी, झांसी, आगरा, सीतापुर, बिजनौर, रायबरेली, जालौन, प्रतापगढ़, एटा, वाराणसी समेत कई जिलों में अभियान चलाकर करीब 9 हजार लीटर कच्ची शराब को बरामद करने के साथ करीब 175 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. वहीं, उत्तराखंड में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी
वहीं, इस मामले में यूपी के आबकारी मंत्री जय प्रताप सिंह ने कहा कि कुशीनगर, सहारनपुर की घटना चूक का नतीजा था. हमने पहले भी जहरीली शराब के खिलाफ कार्रवाई की थी. इस मामले पर भी कई लोगों पर कार्रवाई हो रही है. जांच के बाद जो दोषी होंगे, उन पर कार्रवाई की जाएगी. इसके अलावा रविवार को भी आबकारी मंत्री जय प्रताप सिंह प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे. अभी तक इस मामले में 10 अफसरों को सस्पेंड किया जा चुका है. माना जा रहा है कि कुछ और अधिकारियों पर कार्रवाई की जा सकती है.

आदित्यनाथ आखिरकार अपनी चुप्पी तोड़ी
इस मामले में सुबह मीडिया के सवालों से बच रहे सीएम योगी आदित्यनाथ आखिरकार अपनी चुप्पी तोड़ी. उन्होंने कहा कि घटनाएं दुर्भाग्यपूर्ण हैं और जांच की जाएगी. मैंने घटना पर उत्तराखंड के सीएम से भी बातचीत की. कड़ी कार्रवाई की जाएगी और दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. इस प्रकार की घटना पूर्व में भी हुई थी, जिसमें कई बार सपा कार्यकर्ता शामिल थे. सरकार ने मुआवजे की घोषणा की है. मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख और इलाज कर रहे लोगों को 50-50 हजार रुपये का मुआवजा दिया जाएगा.

जनपद में अवैध शराब बनाने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध चलाए गए अभियान में #27_अभियुक्त गिरफ्तार #1000_लीटर अवैध शराब व शराब बनाने के उपकरण बरामद 2500 लीटर लहन नष्ट किया गया, इस संबंध में पुलिस अधीक्षक बिजनौर की बाइट
सपा ने जहरीली शराब से मौतों पर दुःख जताया है. सपा ने कहा कि शराब काण्ड बीजेपी सरकार की लापरवाही है. प्रशासन अवैध शराब के धंधे पर रोक लगाने में नाकाम साबित हुई है. इस मामले में डीएम, एसएसपी की भी जिम्मेदारी तय होनी चाहिए. सरकार ने अभी किसी बड़े अधिकारी पर कोई कार्रवाई नहीं की है.

Spread the love

इंदौर