Oct 20 2021 / 6:51 PM

इस बार रक्षाबंधन पर्व 22 अगस्त को, इस बार भद्रा का साया नही, जानिए कौन सा सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त है भाई की कलाई पर राखी बांधने का

इस बार रक्षाबंधन पर्व दिनांक 22 अगस्त 2021 रविवार को परम्परागत उत्साह व उल्लास के साथ मनाया जाएगा। जानिए कौन सा सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त है भाई की कलाई पर राखी बांधने का-

रक्षासूत्र बाँधने एवं बँधवाने के शुभ मुहूर्त

रक्षाबंधन पर्व पर श्रवणकुमार का पूजन करने के लिए श्रेष्ठ मुहूर्त-

अपराह्न मुहूर्त –
दोप. 12.03 मि. से 12.27 मि. तक (अभिजीत+अमृत चौघड़िया)

इस वर्ष सम्पूर्ण दिवस पर्यंत भद्रा नहीं होने से शुभ समय में रक्षासूत्र बाँधने एवं बँधवाने के शुभ मुहूर्त-

प्रातः 07.42 मि. से 09.17 मि. तक (चर)
प्रातः 09.18 मि. से 10.52 मि. तक (लाभ)
प्रातः 10.53 मि. से दोप. 12.27 मि. तक (अमृत)
दोप. 02.02 मि. से 03.37 मि. तक (शुभ)
सांयः 06.47 मि. से रात्रि 08.12 मि. तक (शुभ)
रात्रि 08.13 मि. से 09.37 मि. तक (अमृत)

रक्षासूत्र बंधन मंत्र-
राखी बांधते समय बहनें निम्न मंत्र का उच्चारण करें, इससे भाईयों की आयुष्य में वृद्धि होती है।

येन बद्धो बली राजा, दानवेन्द्रो महाबलः । तेन त्वामभिबध्नामि, रक्षे मा चल मा चल ।।

राखी बांधते समय उपरोक्त मंत्र का उच्चारण करना विशेष शुभ माना जाता है। इस मंत्र में कहा गया है कि (जिस रक्षा डोर से महान शक्तिशाली दानवेंद्र राजा बलि को बांधा गया था, उसी रक्षाबंधन के पवित्र सूत्र को मैं तुम्हें बाँधती हूँ, यह डोर तुम्हारी रक्षा करेगी ।)

साभार-
ज्योतिर्विद-
पं. गुलशन अग्रवाल (पत्रिका ग्रुप)
जय महाकाली मंदिर, खजराना
इन्दौर (म.प्र.)
फोन नं. – 9425076405

Spread the love

Indore