पेरिस। आतंकी संगठनों की टेरर फंडिंग पर रोक न लगा पाने के कारण पाकिस्तान एक बार फिर से एफएटीएफ (फाइनेंसियल एक्शन टास्क फोर्स) की ग्रे लिस्ट में बना रहेगा।

Spread the love

6

इंदौर