Nov 29 2022 / 10:46 AM

भाजपा-आप ने कराए दंगे: कांग्रेस

प्रदेश अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा ने की गिरफ्तार आंदोलनकारियों को रिहा करने की मांग

नई दिल्ली। केन्द्र की भाजपा व दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने अपने राजनैतिक हित साधने के लिए एक सुनियोजित षडयंत्र के तहत दिल्ली के युवाओं के भविष्य को अंधकारमय करने के साथ-साथ पूरी दिल्ली को हिंसा की आग में झोंकने का घिनोना प्रयास किया है। यह आरोप कांग्रेस के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा ने लगाया है।

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि दिल्ली में आज कर्फ्यू जैसे हालात है, दिल्ली की आम जनता भयभीत है और लोग अपने दफ्तरों से न घर पहुंच पा रहे है और न ही रोजमर्रा के काम कर पा रहें है। उन्होंने कहा कि 30 से ज्यादा मेट्रो स्टेशन बंद होने और दिल्ली में जगह-2 ट्रैफिक जाम होने व धारा 144 लगने से अफरा-तफरी का माहौल है।

दिल्ली के इन हालातों के लिए भाजपा व आप पार्टी की पूरी तरह जिम्मेदार है। चोपड़ा ने कहा कि बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर द्वारा बनाए गए संविधान के खिलाफ बनाऐ गए नागरिक संशोधन विधेयक के चलते देश में सरकार ने शांति व सौहार्द को न केवल नुकसान पहुंचाया है बल्कि आज कानून का शासन कहीं नजर नही आ रहा है। संविधान की रक्षा करना तो अलग बात है भाजपा सरकार ने संविधान को मानने वालों पर ही हमला बोल दिया है।

चोपड़ा ने दिल्ली में जो कुछ भी घटनाऐं घटी है व गिरफ्तारियां हुई है उनकी कड़ी निंदा करते हुए सभी गिरफ्तार आंदोलनकारियों को रिहा करने की मांग की है। प्रदेश कांग्रेस ने मुख्य प्रवक्ता मुकेश शर्मा द्वारा रखे गए एक प्रस्ताव को भी सर्वसम्मति से पारित किया।

प्रस्ताव में राजधानी में जनजीवन को अस्त-व्यस्त करने व दिल्ली को हिंसा के हवाले करने के लिए जिम्मेदार भाजपा व आप पार्टी की निंदा की गई, साथ ही पुलिस द्वारा आंदोलन को दबाने के लिए किए जा रहे बल प्रयोग पर आपति दर्ज करते हुए मांग की गई है कि सभी आंदोलनकारी छात्रों को तुरंत प्रभाव से रिहा किया जाए। मुकेश शर्मा ने कहा कि दिल्ली में कांग्रेस पूरी शक्ति के साथ साम्प्रदायिक ताकतों का मुकाबला करेगी और हर कीमत पर धर्म निरपेक्षता की रक्षा की जाएगी।

Share with

INDORE