Nov 29 2022 / 9:07 AM

नागरिकता कानून: लखनऊ में हिंसक प्रदर्शन, पुलिस चौकी फूंकी, कई वाहनों में लगाई आग

लखनऊ। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में देश के कई हिस्सों में प्रदर्शन किया जा रहा है। इन सबके बीच यूपी की राजधानी लखनऊ के कई इलाकों में हिंसा फैल गई है। उपद्रव के दौरान दो पुलिस चौकी भी जला दी गई जबकि बाहर खड़े वाहनों को फूंक दिया गया। प्रदर्शनकारियों ने लखनऊ के डालीगंज इलाके में भी जमकर उत्पात मचाया। इलाके में जमकर तोड़फोड़ और पथराव हुआ।

भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले दागने पड़े। उधर, पश्चिमी यूपी के संभल में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प के बाद इंटरनेट बंद कर दिया गया। वहीं, उपद्रवियों ने पुलिस चौकी के सामने खड़े वाहनों को आग के हवाले कर दिया है। इसके साथ ही कई जगह तोड़फोड़ की खबरें भी सामने आ रही हैं।

बताया जा रहा है कि पुलिस ने बवाल मचा रहे लोगों को काबू करने के लिए फायरिंग भी की है। पुलिस ने उपद्रवियों पर आंसू गैस के गोले भी छोड़े हैं। लखनऊ के खदरा इलाके में उप्रदवियों ने बवाल भड़का दिया है। पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे लोगों पर आंसू गैस के गोले छोड़े। बताया जा रहा है कि लोगों ने पुलिस फोर्स पर पथराव कर दिया था। वहीं, खदरा इलाके में हालात बेकाबू होने के बाद दंगा नियंत्रण वाहन मौके पर पहुंचा।

इससे पहले यूपी के संभल में भी भीड़ ने हिंसक प्रदर्शन किया है। भीड़ ने प्रदर्शन के दौरान दो बसों को आग लगा दी है। इसी के साथ अन्य गाड़ियों में भी तोड़-फोड़ की खबर सामने आई है। बताया जा रहा है कि उपद्रवी तत्वों ने प्रदर्शन के दौरान यूपी परिवहन की दो बसों को आग लगाकर फूंक दिया। बताया जा रहा है कि प्रदर्शनकारियों ने हिंसक रूप अपनाते हुए पुलिस पर पत्थरबाजी भी की है।

उत्तर प्रदेश के कई जिलों में हिंसक प्रदर्शन होने के बाद प्रशासन ने पूरे सूबे में धारा 144 लागू कर दी है। इस दौरान प्रदेश में कहीं भी प्रदर्शन, जुलूस आदि की इजाजत नहीं है। वहीं, उत्तर प्रदेश के DGP ओपी सिंह ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून को लेकर कोई भी अफवाह फैलाने की कोशिश न करे, अगर ऐसा करते पाए गए तो कार्रवाई होगी। डीजीपी ने अपील करते हुए कहा कि माता-पिता अपने बच्चों को समझाएं कि किसी प्रदर्शन में हिस्सा न लें। अन्यथा उनके खिलाफ वैधानिक कार्रवाई होगी।

Share with

INDORE