विधायक नीना वर्मा के विरुद्ध चुनाव याचिका खारिज

इंदौर। धार की भाजपा विधायक नीना वर्मा के विरुद्ध इंदौर हाई कोर्ट में दायर एक चुनाव याचिका सोमवार को खारिज कर दी गई। इसी के साथ कोर्ट ने याचिकाकर्ता कांग्रेस नेता बालमुकुंद सिंह गौतम पर एक लाख रुपए हर्जाना भी लगाया है। जस्टिस रोहित आर्या की बेंच ने यह याचिका खारिज की। गलत ढंग से चुनाव लडऩे को लेकर गौतम की ओर से यह याचिका दायर की गई थी। इसमें जितने भी बिंदूओं पर आरोप लगाए गए थे उन्हें कोर्ट ने प्रमाणित नहीं माना।

इसके चलते कोर्ट ने याचिकाकर्ता पर एक लाख रुपए हर्जाना लगाते हुए यह राशि एक माह में जमा करने के निर्देश दिए। यह राशि विधायक वर्मा को दी जाएगी। विधायक वर्मा की ओर से सीनियर एडवोकेट चम्पालाल यादव, ओपी सोलंकी ने तर्क रखे। उल्लेखनीय है कि इसके पूर्व वर्ष 2009 में हुए चुनाव को लेकर भी गौतम द्वारा नीना वर्मा के विरुद्ध चुनाव याचिका दायर की गई थी। इसमें कोर्ट ने उनके पक्ष में निर्णय देकर नीना वर्मा की विधायकी शून्य घोषित की थी। उस समय गौतम महज एक वोट से चुनाव हारे थे जिसे उन्होंने कोर्ट में चुनौती दी थी।

इसके बाद वर्ष 2014 में हुए चुनाव को लेकर भी गौतम द्वारा नीना वर्मा के विरुद्ध यह चुनाव याचिका लगाई थी। पहले वाली चुनाव याचिका
का निर्णय भी विधानसभा का कार्यकाल समाप्त होने के कुछ दिन पहले ही आया था जबकि इस याचिका पर भी निर्णय अब आया है जब नए चुनाव होने में कुछ ही माह शेष है।

एक याचिका में नीना के विरुद्ध निर्णय
धार चुनाव को लेकर ही एक अन्य याचिका धार के सुरेशचन्द्र भंडारी द्वारा
लगाई गई थी। इसमें नीना वर्मा द्वारा सही ढंग से नामांकन नहीं भरे जाने
आदि आरोप लगाए थे। हाई कोर्ट ने यह याचिका स्वीकार कर नीना वर्मा का
चुनाव निरस्त कर दिया था। इस फैसले के विरुद्ध नीना की ओर से सुप्रीम
कोर्ट में अपील दायर की गई है जो फिलहाल विचाराधीन है।

Spread the love

इंदौर