Dec 02 2022 / 2:53 PM

सीलिंग को लेकर मुख्यालय में हुई बैठक, दिए कई सुझाव

नई दिल्ली। गांधी नगर व आसपास के इलाके में हो रही सीलिंग को लेकर व्यापारियों में आक्रोश के बीच निगम के नेताओं ने व्यापारियों और अधिकारियों के साथ निगम मुख्यालय पटपड़गंज में बैठक की। सीलिंग को लेकर व्यापारियों और निगम नेताओं ने बिना फैक्ट्री के ही सीलिंग करने की बात उठाई। अधिकारियों ने जांच की बात कही साथ ही लाइसेंस आवेदन के लिए गांधी नगर में शिविर लगाने की भी बात कही।

बैठक में नेता सदन निर्मल जैन, स्थायी समिति के चेयरमैन संदीप कपूर, पूर्व विधायक अनिल वाजपेयी, स्थायी समिति के पूर्व चेयरमैन जितेंद्र चौधरी जीतू, लाइसेंसिंग समिति चेयरमैन दीपक मल्होत्रा, कई व्यापारी नेता और अतिरिक्त आयुक्त विजय विधूड़ी सहित कई अधिकारी मौजूद रहे।

बैठक के दौरान जितेंद्र चौधरी ने कहा कि मास्टर प्लान 2021 के तहत अधिसूचित व्यवसायिक सड़कों पर 164 तरह के घरेलू उद्योग चलाए जा सकते हैं। इन सड़कों के लिए आॅन लाइन लाइसेंस बनता है। इसके लिए दो साल पहले लाइसेंस सरलीकरण किया गया था। लेकिन अभी तक निगम के आॅन लाइन पोर्टल में बदलाव नहीं किया गया है। पोर्टल पर पुरानी शर्तें ही दर्ज है।

बैठक में मौजूद नेता सदन निर्मल जैन व पूर्व विधायक अनिल वाजपेयी ने कहा कि गांधी नगर विधानसभा क्षेत्र में अफरा तफरी का माहौल बना हुआ है। फील्ड अधिकारी मशीनें देखकर सीलिंग की कार्रवाई कर रहे हैं, जबकि घरेलू उद्योग के लिए अधिकमत क्षमता 11 किलोवाट बिजली खपत और नौ कार्यरत कर्मचारी की क्षमता है।

व्यापारी नेता पवन जिंदल और श्याम सुंदर अग्रवाल ने कहा कि जिन उद्यमियों ने आवेदन के लिए जी-8 फार्म भरा हुआ है उन्हें भी सीलिंग नोटिस आ गए हैं। स्थायी समिति चेयरमैन संदीप कपूर ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह घरेलू उद्योग चलाने वालों की मदद के लिए आगे आएं और अधिक से अधिक आवेदन करवाएं। उन्होंने कहा कि प्रदूषण फैलाने वाली फैक्ट्रियों के खिलाफ कार्रवाई हो लेकिन जो घरेलू उद्योग मान्य हैं उनके साथ अधिकारी सहयोग करें।

Share with

INDORE