Dec 09 2022 / 5:44 PM

नागरिकता कानून नहीं युवाओं को चाहिए रोजगार : सीएम

नई दिल्ली। केवल दिल्ली के अंदर ही नहीं, पूरे देश के अंदर लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति खराब होती जा रही है। दिन पर दिन यह बिगड़ती जा रही है। यह कहना है दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का। उन्होंने एक ब्यान जारी कर कहा है कि इसको लेकर मैं बहुत ज्यादा चिंचित हूं। लोगों में एक किस्म का डर है। केवल मुसलमान ही नहीं, हिन्दूओं, सिक्खों, ईसाइयों और देश के सभी नागरिकों के अंदर डर है कि जब उन्हें कहा जाएगा कि कागज दिखा कर साबित करो कि आप देश के नागरिक हो।

इस देश में गरीबों के पास कागज नहीं है। 70 प्रतिशत से ज्यादा लोगों के पास कुछ दिखाने को नहीं होगा। फिर उन लोगों को कहा जाएगा कि आप देश छोड़ कर जाओ। तो वे लोग कहां जाएंगे। यह देश तो अपना है। यहीं सब लोग पैदा हुए। हमारे बाप, दादा, परदादा सभी लोग यहीं पैदा हुए, तो वो लोग कहा जाएंगे। सभी लोगों के मन में यह डर पैदा हो गया है कि हमारे साथ क्या बर्ताव होगा। खास कर गरीब आदमी को है।

चाहे वह किसी भी धर्म का हो। सब लोग इस समय डरे हुए हैं। इस कानून से कुछ भी हासिल नहीं होने वाला है। मेरी हाथ जोड़ कर केंद्र सरकार से अपील है कि इस समय इस कानून को लाने की कोई जरूरत नहीं है। इस समय सबसे बड़ी जरूरत है तो युवाओं को रोजगार देने की है। हम सब लोगों को मिल कर इंतजाम करना चाहिए कि हमारे बच्चों के लिए रोजगार पैदा हों और मेरे हिसाब से इस कानून की कोई आवश्यकता नहीं है।

Share with

INDORE