सेना के जवान ने अपने ही साथियों पर की ताबड़तोड़ फायरिंग, आठ की मौत

रूसी सैनिक ने शुक्रवार को अपने ही साथी सैनिकों पर अंधाधुंध फायरिंग (Firing) कर दी, आठ जवानों की मौत हो गई और दो अन्य घायल हो गये. इस मामले में अधिकारियों ने बताया कि आरोपी की मानसिक स्थिति सही नहीं होने की वजह से उसने यह कदम उठाया है.

आरोपी की मानसिक स्थित नहीं है ठीक

रक्षा मंत्रालय ने अपने बयान में कहा कि आरोपी सैनिक को हिरासत में लिया गया है. नर्वस ब्रेकडाउन होने के कारण जवान ने इस घटना को अंजाम दिया है. आरोपी जवान अपनी मिलिट्री ड्यूटी के साथ सामंजस्य स्थापित नहीं कर पा रहा था.’ बयान में कहा गया है कि सभी घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है और सभी खतरे से बाहर हैं.

घटना के वक्त रक्षा मंत्री कर रही थीं बैठक


अधिकारिक सूत्रों के अनुसार जिस वक्त यह घटना घटी उस समय बेस पर उप-रक्षा मंत्री एंद्रेई कार्तापोलोव की अध्यक्षता में आयोग की बैठक चल रही थी. 1990 के दशक से रूसी सेना में प्रताड़ना, अधिक काम लिया जाना आदि की समस्या सामने आती रही हैं. लेकिन हाल के वर्षों में इसमें सुधार हुआ है.

Spread the love

इंदौर