Oct 21 2019 /
12:21 AM

हत्या के 5 आरोपियों को बरी करने के बाद जज ने खुद को मारी गोली

थाईलैंड के एक न्यायाधीश ने हत्या के कई संदिग्धों को बरी करने का फैसला देने के बाद खचाखच भरी अदालत में खुद के सीने में गोली मार ली। न्यायाधीश ने फेसबुक लाइव पर प्रसारित अपने जोशीले भाषण में देश की न्यायप्रणाली की निंदा की। आलोचकों का कहना है कि थाईलैंड की अदालत अक्सर संपन्न और ताकतवर लोगों के पक्ष में काम करती है, जबकि आम लोगों को छोटे-छोटे अपराधों के लिए फौरन तथा कड़ा दंड दिया जाता है। अब तक किसी न्यायाधीश को न्याय प्रणाली की आलोचना करते नहीं सुना गया था।

विद्रोह प्रभावित दक्षिणी थाईलैंड के मध्य में स्थित याला अदालत में न्यायाधीश कनाकोर्न पियानचाना ने गोली मारकर हत्या करने के एक मामले में पांच संदिग्धों पर फैसला सुनाया। उन्होंने अदालत कक्ष में उनकी याचिका पर सुनवाई के दौरान सभी आरोपियों को बरी कर दिया और इसके बाद बंदूक निकालकर अपने सीने में गोली दाग ली। अपने फोन पर फेसबुक लाइव कर न्यायाधीश ने अदालत को संबोधित किया और कहा, ‘किसी को सजा सुनाने के लिए आपको स्पष्ट और विश्वसनीय सबूत की जरूरत होती है। इसलिए अगर आप आश्वस्त नहीं हैं तो उन्हें दंडित नहीं करें।’

Hindustan Hindi Newsआपका शहर
भारत

502 323

vs
दक्षिण अफ्रीका

431 11/1

स्टंप्स
होम
देश
राज्य
ई-पेपर
विदेश
विधानसभा चुनाव
हिन्दुस्तान स्मार्ट
मनोरंजन
क्रिकेट
खेल
प्रवासी भारतीय
वीडियो
पंचांग-पुराण
बिजनेस
गैलरी
कॅरियर-जॉब्स
हेल्थ
लाइफस्टाइल
ओपिनियन
गैजेट्स
ऑटो
क्राइम
जोक्स
नंदन
हिन्दुस्तान सिटी
वायरल न्यूज़

होमविदेश
थाईलैंड: हत्या के 5 आरोपियों को बरी करने के बाद जज ने खुद को मारी गोली
थाईलैंड के एक न्यायाधीश ने हत्या के कई संदिग्धों को बरी करने का फैसला देने के बाद खचाखच भरी अदालत में खुद के सीने में गोली मार ली।

representational image of judiciary
एएफपी।,बैंकॉक।
Updated: Sun, 06 Oct 2019 01:22 AM IST

अ+अ-
थाईलैंड के एक न्यायाधीश ने हत्या के कई संदिग्धों को बरी करने का फैसला देने के बाद खचाखच भरी अदालत में खुद के सीने में गोली मार ली। न्यायाधीश ने फेसबुक लाइव पर प्रसारित अपने जोशीले भाषण में देश की न्यायप्रणाली की निंदा की। आलोचकों का कहना है कि थाईलैंड की अदालत अक्सर संपन्न और ताकतवर लोगों के पक्ष में काम करती है, जबकि आम लोगों को छोटे-छोटे अपराधों के लिए फौरन तथा कड़ा दंड दिया जाता है। अब तक किसी न्यायाधीश को न्याय प्रणाली की आलोचना करते नहीं सुना गया था।

विद्रोह प्रभावित दक्षिणी थाईलैंड के मध्य में स्थित याला अदालत में न्यायाधीश कनाकोर्न पियानचाना ने गोली मारकर हत्या करने के एक मामले में पांच संदिग्धों पर फैसला सुनाया। उन्होंने अदालत कक्ष में उनकी याचिका पर सुनवाई के दौरान सभी आरोपियों को बरी कर दिया और इसके बाद बंदूक निकालकर अपने सीने में गोली दाग ली। अपने फोन पर फेसबुक लाइव कर न्यायाधीश ने अदालत को संबोधित किया और कहा, ‘किसी को सजा सुनाने के लिए आपको स्पष्ट और विश्वसनीय सबूत की जरूरत होती है। इसलिए अगर आप आश्वस्त नहीं हैं तो उन्हें दंडित नहीं करें।’

Read Also: नकाब पर बैन के बाद हांगकांग में हिंसक प्रदर्शन; रेल सर्विस बंद, पुलिस ने छोड़ा आंसू गैस

ADVERTISEMENT

SCROLL TO CONTINUE WITH CONTENT
उन्होंने कहा, ‘मैं यह नहीं कह रहा हूं कि पांचों अभियुक्तों ने अपराध नहीं किया है। हो सकता है उन्होंने ऐसा किया हो। लेकिन न्याय प्रक्रिया को पारदर्शी और विश्वास करने योग्य होने की आवश्यकता है जो उन्हें बलि का बकरा बनाकर गलत लोगों को दंडित करती है।’ फेसबुक फीड को बाद में हटा दिया गया लेकिन इसे देखने वालों ने कहा कि कनाकोर्न ने खुद को गोली मारने से पहले थाईलैंड के पूर्व राजा की तस्वीर के सामने कानून की शपथ ली। न्यायपालिका के कार्यालय के प्रवक्ता सुरियां होंगविलई ने शनिवार को बताया, ‘डॉक्टर उनका इलाज कर रहे हैं और बताया जाता है कि वह खतरे से बाहर हैं।’

उन्होंने कहा, ‘ऐसा प्रतीत होता है कि उन्होंने व्यक्तिगत तनाव के कारण खुद को गोली मारी। लेकिन उनके तनाव के पीछे का कारण स्पष्ट नहीं है और उसकी जांच की जाएगी।’ उन्होंने कहा कि अब तक किसी थाई न्यायाधीश ने व्यापक न्याय प्रणाली पर ऐसे बयान देकर प्रोटोकॉल का उल्लंघन नहीं किया। संदिग्धों का पक्ष रखने वाले वकील ने कहा, ‘न्यायाधीश कनाकोर्न ने अभियोजन पक्ष के सबूतों को खारिज कर दिया और कहा कि सजा सुनाए जाने के लिए ये सबूत पर्याप्त नहीं हैं।’

Spread the love

इंदौर